Thursday, 22 February, 2024

single post

  • Home
  • मणिपुर में सेना के काफिले पर हुये उग्रवादी हमले (Terrorist Attack) में राजस्थान के सपूत राजेन्द्र प्रसाद मीणा शहीद
News

मणिपुर में सेना के काफिले पर हुये उग्रवादी हमले (Terrorist Attack) में राजस्थान के सपूत राजेन्द्र प्रसाद मीणा शहीद

मणिपुर में सेना के काफिले पर हुये उग्रवादी हमले (Terrorist Attack) में राजस्थान के सपूत राजेन्द्र प्रसाद मीणा शहीद (Rajendra Prasad Meena) हो गये हैं. देश के लिये शहादत देने वाले राजेन्द्र प्रसाद मीणा जयपुर से सटे दौसा जिले के बसावा थाना इलाके के दिलावरपुर गांव के रहने वाले थे. 46 असम राइफल्स (46 Assam Rifles) के जवान राजेन्द्र प्रसाद की शहादत (Martyrdom) की खबर के बाद उनके गांव में सन्नाटा पसरा है. शनिवार को मणिपुर में उग्रवादियों ने सेना के काफिले पर घात लगाकर हमला कर दिया था. इस हमले में 46 असम राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल विपल्व त्रिपाठी समेत सेना के पांच सैनिक भी शहीद हो गये थे.
शनिवार को सुबह इस हमले में जैसे ही दौसा जिले के जवान आरपी मीणा के शहीद होने की सूचना मिली तो उनके गांव में शोक की लहर छा गई. गांव के लाडले की शहादत की सूचना पर ग्रामीण उसके घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया. देश की रक्षार्थ अपना सर्वस्व लुटाने वाले लाडले पर ग्रामीणों को गर्व है तो लेकिन उसके चले जाने गहरा दुख भी है. शहीद की पार्थिव देह आज शाम तक उनके पैतृक गांव लाने जाने की संभावना जताई जा रही है.
पिता से रोजना दिन में 2 बार बात करते थे
शहीद राजेन्द्र प्रसाद मीणा का जन्म वर्ष 1991 में हुआ था. दिलावरपुरा में शम्भूदयाल मीणा के घर जन्मे राजेन्द्र प्रसाद वर्ष 2013 में 46 असम राइफल्स में भर्ती हुये थे. अपने पिता के प्रति खास लगाव रखने वाले राजेन्द्र प्रसाद प्रतिदिन नियमित रूप से अपने पिता से दो बार बात करते थे.
परिवार साथ ही रहता था
राजेन्द्र प्रसाद मीणा के दो बच्चे हैं. इनमें एक बेटा और एक बेटी है. मीणा का परिवार उनके साथ ही मणिपुर रहता था. राजेन्द्र चार भाई बहनों में सबसे बड़े थे. बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखने वाले राजेन्द्र प्रसाद ने सेना में जाने के बाद अपनी दो बहनों की शादी. फिर भाई को पढ़ाया और उसकी शादी की.

0 comment on मणिपुर में सेना के काफिले पर हुये उग्रवादी हमले (Terrorist Attack) में राजस्थान के सपूत राजेन्द्र प्रसाद मीणा शहीद

Write a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Categories